कैसे खत्म कर दिए गए लैटिन अमेरिका के मूलनिवासी

सिद्धार्थ: 9 अगस्त को भारत सहित दुनिया भर में विश्व आदिवासी दिवस मनाया गया। लेकिन आदिवासी हैं कौन? ट्राईबल, इंडिजीनियस, मूलनिवासी, अनुसूचित जनजाति और वनवासी

Continue reading

पुस्तक परिचय: धरती सागर और सीपियाँ- अमृता प्रीतम

सिद्धार्थ: अमृता प्रीतम भारतीय साहित्य के कुछ उन चुनिन्दा नामों में से एक है जिन्होंने अपनी लिखावट को किसी एक खास फ़र्मे में बांधकर नहीं

Continue reading

उत्तराखंड की गढ़वाली कहावतों या औखाणों की रोचक दुनिया

सिद्धार्थ:  इंसान के पाषाण काल के दौर से आज तक के सफर को तय करने और इस दौरान विकसित होने में, भाषाओं का बेहद अहम

Continue reading

उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में पारंपरिक अनाजों से मनाई जाती है दिवाली

सिद्धार्थ: किसी त्यौहार को एक कहानी से जोड़ देना और उन्हें एक ही तरीके से मनाना ऐसा खासतौर पर शहरों में ही देखने को मिलता

Continue reading

छत्तीसगढ़ के पिथोरा से बंधुआ मजदूरी पर रिपोर्ट

सिद्धार्थ: 5 नवंबर-2020, गाँव- चिरौदा, तहसील- पिथौरा, जिला- महासमुंद 5 नवंबर 2020 को छत्तीसगढ़ के साथी राजिम दीदी और देवेन्द्र भाई के साथ हम पिथोरा

Continue reading

आज के भारत में क्या है बंधुआ मज़दूरी की तस्वीर

बंधुआ मज़दूरी या बेगार की प्रथा को इतिहास के पन्नों में खोजने की कोशिश करेंगे तो जाने कितनी परतों को पलटना होगा। बात आज़ाद भारत

Continue reading