मैं अंधेरा बाँटता हूंँ

लाल प्रकाश राही:  मैं अंधेरा बाटता हूँ। सुबह से शाम, दोपहर से रात,हर समय हर जगह, जहाँ देखोगे जिधर देखोगे,मिलूँगा मैं, सिर्फ मैं। संसद से लेकर

Continue reading

उत्तर प्रदेश के फ़ैज़ाबाद और जौनपुर से; उत्तराखंड के अल्मोड़ा से – कोरोना रिपोर्ट

गुफ़रान सिद्दीकी; फ़ैज़ाबाद, उत्तर प्रदेश: पिछले वर्ष कोविड महामारी का पहला हमला जब देश पर हुआ तब लगा कि देश इससे उबर नहीं पाएगा। सरकार

Continue reading

उन्हें भी गुमान है जश्ने आज़ादी का

लाल प्रकाश राही: उन्हें भी गुमान है जश्ने आज़ादी का जिनकी जेब में चाकलेट खरीदने के पैसे नहीं हैं। उन्हे भी गुमान है जश्ने आज़ादी

Continue reading

पेट की भूख, रोटी का व्यास

लाल प्रकाश राही: पेट की भूख, रोटी का व्यास खींच ले गया उसे परदेश वह मज़दूर था, देश का भाग्य विधाता थोड़े था। कभी फुटपाथ

Continue reading