विस्थापितों को चाहिए रोज़गार – चांडिल बांध

अरविंद अंजुम: बेरोज़गार युवा विस्थापित संगठन की ओर से रोज़गार की मांग अब ज़ोर पकड़ने लगी है। ये युवा उन परिवारों की दूसरी पीढ़ी है

Continue reading

सहरसा, बिहार के मनोज और उनके टोले के लोगों ने दिखाया जाति प्रथा को आईना

अखिलेश: 55 साल के मनोज राम और उनके पिता निरो राम का जन्म, बरैठ पंचायत के अमृता गाँव के थाना-सौनवर्षा, ज़िला सहरसा (बिहार) में हुआ

Continue reading

हम तो गए भोपाल, मांगने को रोजगार …….मिली लाठियाँ और निराशा

कृष्णा सोलंकी: मैं एक शिक्षित बेरोज़गार युवा हूँ। पिछले कई वर्षों से, मध्य प्रदेश के एक छोटे से गाँव से अपने साथ कई सपने लेकर

Continue reading

रोज़गार को लेकर म.प्र. के आंदोलनरत युवाओं पर भोपाल पुलिस ने भांजी लाठियाँ

शिवजी किराड़े: रोज़गार के लिए और बेरोज़गारी के खिलाफ प्रदेश के बेरोज़गार युवाओं ने 18 अगस्त, बुधवार के दिन मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में

Continue reading

युवा देश का भविष्य है, लेकिन युवाओं का भविष्य क्या है?

जयश्री: भारत दुनिया का सर्वाधिक युवा देश कहलाता है। 18 से 29 वर्ष उम्र के युवक-युवतियां भारत की जनसंख्या के 22% यानी कि 26 करोड़

Continue reading

अनायास: सिविल नाफरमानी पर गाँधी के विचार और उन पर अरविंद अंजुम की टिप्पणी

अरविंद अंजुम: काश मैं सबको इस बात के लिए मना सकता कि सिविल नाफरमानी हर नागरिक का जन्मजात अधिकार है। वह मनुष्यता छोड़े बिना इसको

Continue reading

1 2 3