महाराष्ट्र राज्यातील जादूटोणा विरोधी कायद्याची पार्श्वभूमी आणि यशस्वीता

डॉ. सुदेश घोड़ेराव: साधारणपणे 1990 च्या सुमारास डॉ. नरेंद्र दाभोळकर यांच्या प्रमुख नेतृत्वातून आणि माजी न्यायमूर्ति चंद्रशेखर धर्माधिकारी, एडवोकेट भास्करराव मिसर यांचे प्रयत्नातून जादूटोणा विरोधी

Continue reading

मैं मज़दूर हूँ

खेमलाल खटर्जी: मैं मज़दूर हूँ,ज़मीन से आसमान तक मशहूर हूँ।कभी लकड़ी का कोयला,तो कभी कोहिनूर हूँ।। डूबा हूँ मुश्किलों के समंदर में,तो कभी दुनिया भर

Continue reading

नागपुर, महाराष्ट्र में जुटे 12 राज्यों के 135 साथी, पढ़ा संविधान का पाठ

शशांक शेखर और महिपाल: भारतीय संविधान की प्रस्तावना में व्यक्त संकल्पों में से एक- स्वतंत्रता को मनुष्य का एक ऐसा प्राकृतिक अधिकार बताया गया, जिसका

Continue reading

देश में धार्मिक उन्माद के हालात बयान करते दो गीत

युवानिया डेस्क द्वारा साझा की गई – मंदिर-मस्जिद-गिरजाघर ने बाँट लिया भगवान को कविता के लेखक – विनय महाजन : मंदिर-मस्जिद-गिरजाघर ने बाँट लिया भगवान

Continue reading

धर्म के बारे में क्या कहता है भारत का संविधान?

एड. आराधना भार्गव: भारत एक पंथनिरपेक्ष राज्य है। इसका अर्थ है कि यह सभी धर्मो के प्रति तटस्थता और निष्पक्षता का भाव रखता है। पंथनिरपेक्षता

Continue reading

प्राकृतिक आस्था और आदिवासी अध्यात्म का प्रतीक “सरना”

डा. गणेश माँझी: “सरना” शब्द आज पूरी दुनिया जानती है। इस शब्द के गहराई और शुरुआत में जाएँ तो शायद ही ये शब्द किसी आदिवासी

Continue reading