वास्तविकता की चुनौती

जगदीश चौहान: भगतसिंह की किताब, मैं नास्तिक क्यों हूं?, अछूत की समस्या, और बाबासाहेब डॉ आंबेडकर की किताब जाति का उन्मूलन इन पंक्तियों के मुख्य

Continue reading

आज मेरी प्यारी बहनों के लिये

उमेश्वर सिंह अर्मो: यह कविता लेखक ने रक्षाबंधन के समय लिखी थी आहत न होना बहन,मैं दिल की खोल रहा हूँ..!जय भीम मेरी बहन,मैं तेरा

Continue reading

ମୋ ଜୀବନର ଆଦର୍ଶ (मेरे जीवन का आदर्श)

दयानंद बछा (ଦୟାନନ୍ଦ ବଛା): ଯଦିଓ ଆଜି ପଙ୍କରେ ଫୁଟିଥିବାପଦ୍ମ ଟିଏ ପରିନିଭୃତ ଅରଣ୍ୟର କଣ୍ଟାବୁଦାରେବଣ ମଲ୍ଲୀ ଟିଏ ଭଲିଫୁଟିଛି ଏଇ ଅଜ୍ଞାତ ବଣରେମହକାଇବି ଦିନେ ସାରା ଦୁନିଆକୁମୋର ସୁମଧୁର ବାସ୍ନାରେ….। ସରଳ ଜୀବନ

Continue reading

माँ प्रकृति – एक कविता

गोपाल पटेल: माँ प्रकृति ने पाला मुझे,संवारा है, बड़ा किया है। लालन-पालन भी किया तूने,मुझे इतना प्रेम दिया तूने.. । क्या कहूँ तेरी इस रहनुमाई

Continue reading

जाति व्यवस्था के मुद्दे पर बात करती कुछ फिल्में और गीत

युवानिया डेस्क: जन जागरण शक्ति संगठन (JJSS) असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का एक पंजीकृत ट्रेड यूनियन है। संगठन के युवा साथियों ने जाति व्यवस्था के

Continue reading

1 2