अनायास: जैसे हैं, वैसा ही दिखें

अरविंद अंजुम: “आपने अगर कोई भी निश्चय न किया हो तो इतना निश्चय करें कि सच्चा तो रहना ही है। सच्चे न रहे तो जितनी

Continue reading

कृषि बिल वापसी और गांधी विचार

अरविंद अंजुम: एक साल से चल रहे किसान आंदोलन के बाद आज संसद के दोनों सदनों में खेती को कॉरपोरेट को सौंप कर बरबाद करने

Continue reading

हसदेव बचाओ पदयात्रा: जंगल बचाने के लिए गाँधीवादी सत्याग्रह

महिपाल:  जल-जंगल-ज़मीन बचाने के लिए हसदेव बचाओ पदयात्रा की शुरुआत 4 अक्टूबर को हसदेव अरण्य क्षेत्र के मदनपुर गाँव के उस स्थान से हुई, जहाँ साल

Continue reading

अनायास: जेल तो यातनाओं का सफर है

अरविंद अंजुम: “मैंने मुख्य दारोगा से कहा कि मेरे बाल और मूंछ कटवा दीजिए। उसने कहा, गवर्नर ने सख्ती से मना किया है। मैंने कहा-

Continue reading

अनायास : गांधीजी के लिए क्या थे ईश्वर के मायने

अरविंद अंजुम: “मैं सत्य का एक विनम्र शोधक हूं। इसी जन्म में आत्मसाक्षात्कार के लिए मोक्ष प्राप्त करने के लिए आतुर हूं। करोड़ों गूंगी जनता

Continue reading

धर्म के बारे में क्या कहता है भारत का संविधान?

एड. आराधना भार्गव: भारत एक पंथनिरपेक्ष राज्य है। इसका अर्थ है कि यह सभी धर्मो के प्रति तटस्थता और निष्पक्षता का भाव रखता है। पंथनिरपेक्षता

Continue reading

1 2