छत्तीसगढ़ में फील्ड विजिट का मेरा अनुभव: फील्ड रिपोर्ट

अखिलेश: बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से लगभग 15-20 किलोमीटर दूर, गनियारी नाम का एक छोटा सा गाँव है। यहाँ एक जन स्वास्थ्य सहयोग अस्पताल है। इस अस्पताल

Continue reading

अपने पुरखों की ज़मीन से जबरन विथापित किए जा रहे छत्तीसगढ़ के महासमुंद ज़िले के वनआश्रित समुदाय

मंजुलता मिरी: मेरा नाम मंजुलता मिरी है। मेरे पति का नाम परसराम मिरी है। मैं दलित समुदाय से हूँ। छत्तीसगढ़ के महासमुंद ज़िले के पिथौरा

Continue reading

पिलवापाली की अमरिका

मंजुलता मिरी: अमरिका बरिहा, पिता सारदा बरिहा और माता सुमित्रा बरिहा, ग्राम पिलवापाली, ब्लॉक पिथोरा, ज़िला महासमुंद, (छत्तीसगढ़) की निवासी हैं। अमरिका को शादी कर

Continue reading

खनन की व्यथा, स्थानीय साथियों की जुबान

युवानिया डेस्क: बबीता अपने व्यक्तव्य में गेवरा ज़िले में चालू खदानों का क्षेत्र, समाज और समुदायों में प्रभाव पर अपनी बात रखती हैं । लग्भव

Continue reading

छत्तीसगढ़ के हसदेव अरण्य क्षेत्र में कोयला खनन का विस्तृत सच

युवानिया डेस्क: हसदेव अरण्य, देश के मध्यपूर्व के छत्तीसगढ़ राज्य में आने वाला एक सघन वन क्षेत्र है। करीब 1 लाख 70 हज़ार हेक्टेयर इलाके

Continue reading

हसदेव अरण्य में कोयला खनन की कीमत- आदिवासियों और पर्यावरण का विनाश

युवानिया डेस्क: जिस गति से पर्यावरण में बदलाव आ रहे हैं, वह किसी एक इलाके के लोगों के लिए ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के

Continue reading

1 2 3 5