गोरख पांडे की बेबाकी और दुस्साहस उनकी कविताओं की पहचान है

सिद्धार्थ:  गोरख पाण्डे हिन्दी साहित्य के उन कुछ गिने चुने नामों में से हैं जिन्होंने कविता लेखन की प्रचलित शैलियों से इतर, एक अलग अंदाज़

Continue reading

शोषण की सत्ता के खिलाफ सतत संघर्षरत कबीर कला मंच

शिवांशु: पिछले दिनों मैं फिल्म देखने के क्रम में था उस दौरान मुझे खोजते हुये एक मराठी फिल्म मिली नाम था “कोर्ट” मैंने वो फिल्म

Continue reading

पेरियार और जाति का उन्मूलन

युवानिया डेस्क: पेरियार ई. वी. रामासामी ने भारत में जाति उन्मूलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, उन्होंने तमिल नाडु में आत्मसम्मान आंदोलन की स्थापना की और

Continue reading

सहरसा, बिहार के मनोज और उनके टोले के लोगों ने दिखाया जाति प्रथा को आईना

अखिलेश: 55 साल के मनोज राम और उनके पिता निरो राम का जन्म, बरैठ पंचायत के अमृता गाँव के थाना-सौनवर्षा, ज़िला सहरसा (बिहार) में हुआ

Continue reading

विदर्भ के गोसेखुर्द बाँध विस्थापितों के पुनर्वास और जातिभेद पर जीत की कहानी

विलास भोंगाड़े: साल 1983 में दांडेकर कमिटी ने महाराष्ट्र राज्य के विदर्भ इलाके के पिछड़ेपन के कारणों पर एक रिपोर्ट पेश की थी, उसे विदर्भ

Continue reading

जाति व्यवस्था के मुद्दे पर बात करती कुछ फिल्में और गीत

युवानिया डेस्क: जन जागरण शक्ति संगठन (JJSS) असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का एक पंजीकृत ट्रेड यूनियन है। संगठन के युवा साथियों ने जाति व्यवस्था के

Continue reading

1 2