भूमिहीन नहीं थे हम पहले

अमित: ये कहानियाँ 1997 में पश्चिम चंपारण ज़िले में गाँव की मीटिंग में सुनीं थीं। स्कूल के कमरे में एक दिवसीय मीटिंग के लिये इकट्ठे

Continue reading

सहदोय डायरीज़: सहदोय में रहने का अनुभव

सहोदय के बच्चों ने अपने शब्दों और तरीके में अपने अनुभव, भावना, समझ, काम और यहाँ के माहौल के बारे में लिखे। स्कूल में टीचर

Continue reading

झारखण्ड के 21 साल- क्या बिरसा का सपना पूरा हो पाया ?

शशांक शेखर: आज धरती आबा बिरसा मुंडा की जयन्ती है और झारखण्ड स्थापना दिवस भी। झारखंड राज्य गठन हुए पूरे 21 साल हो गए। केंद्र

Continue reading

युवानिया लेखन कार्यशाला

युवानिया डेस्क: युवानिया के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में तीन दिवसीय लेखन कार्यशाला का आयोजन किया गया, लगभग 25 युवाओं ने इसमें भाग

Continue reading

सहरसा, बिहार के मनोज और उनके टोले के लोगों ने दिखाया जाति प्रथा को आईना

अखिलेश: 55 साल के मनोज राम और उनके पिता निरो राम का जन्म, बरैठ पंचायत के अमृता गाँव के थाना-सौनवर्षा, ज़िला सहरसा (बिहार) में हुआ

Continue reading

फोटो फीचर: विश्व आदिवासी दिवस

युवानिया डेस्क: देश भर में मनाया गया 09 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस। देखिए एक झलक अलग-अलग कार्यक्रमों की – 1. आदिवासी चेतना संगठन; ढेंकनाल,

Continue reading

1 2 3 4