चार कहानियाँ बाराबंकी के बुनकर समुदाय की साहसी महिलाओं की

आमिर जलाल:  केस स्टडी 1:  बाराबंकी जिले में रहने वाली शकीला बानो अपने घर की एकलौती कमाने वाली महिला है। इनकी बहू का नाम शहनाज

Continue reading

लाखों बुनकरों के रोज़गार पर संकट

आमिर जलाल: लॉकडाउन के कारण बुनकरों के आय के रास्ते बंद हो गए हैं। देश के बुनकर पहले विद्युत करघों (पावर लूम) के कारण बेरोज़गार

Continue reading

आदिवासी और जंगल की अर्थ व्यवस्था से दूर क्यूँ हैं शिक्षा के सिलेबस?

आमिर जलाल: हर समाज की अपनी एक अलग पहचान होती है। वो चाहे शहर हो, गाँव हो या जंगल हो। इंसान का बसेरा हर जगह

Continue reading

आत्मनिर्भर झारखंडी आदिवासियों का लॉकडाउन से संघर्ष!

आमिर जलाल: गौरतलब है कि कोविड-19 संक्रमण के कारण मौजूदा संकट की स्थिति ने जनजातीय कारीगरों सहित गरीब और हाशिये पर रहने वाले समुदायों की

Continue reading