बहना चेत सको तो चेत – मज़दूर किसान शक्ति संगठन के 30 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में गीत

साभार – मजूर किसान शक्ति संगठन

‘Behna Chet Sako to Chet’ sung by Sweta Rav on 30 Years of MKSS

श्वेता राव के द्वारा स्वरबद्ध किया हुआ गीत,
मज़दूर किसान शक्ति संगठन के 30 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में I
गिटार वादक: तरूण जयराम
शेकर : नाथी

बहना चेत सको तो चेत ज़मानों आयो चेतणरो,
बहना चेत सको तो चेत ज़मानों आयो चेतणरो।
चेतणरो ज़मानों चेतणरो
बहना चेत सको तो चेत ज़मानों आयो चेतणरो।
एक दो तो पहली चेती कुछ नहीं फरको आयो
दो चार का चेत भासो कुछ जनकारो आयो
गावां की सब बेहंणा चेतिं 
धरती पलटो खायो
बहना चेते बहना चेते
बहना चेत सको तो चेत ज़मानों आयो चेतणरो
डाबर डुबर रोटी मांगे धंधों कारणों पडसी
प्रेम एकता सभी बढ़ानो ग्रुप बनाडो पडसी 
सहेलियों के साथ में, सहेलियों के साथ में
साथ निभानों पडसी
बहना चेते, बहना चेते
बहना चेत सको तो चेत ज़मानों आयो चेतणरो
चेतणरो, ज़मानों चेतणरो।
बहना चेते, बहना चेते
बहना चेत सको तो चेत ज़मानों आयो चेतणरो।

Leave a Reply