बरकरार रहेगा 2023 में युवानिया का सफर

युवानिया डेस्क:

साल 2022, में निरंतरता को बरकरार रखते हुए युवानिया 2023 में प्रवेश करने जा रही है, इस मौके पर हमारे पाठकों और सहयोगियों ने कुछ संदेश भेजें हैं जो इस पोस्ट में आपके साथ साझा कर रहे हैं। उम्मीद है कि इस नए साल में भी लिखने और पढ़ने वालों का सहयोग हमें मिलता रहेगा।  

युवानिया के पाठकों, लेखकों और युवानिया की संपादकीय टीम को नए वर्ष की बहुत सारी शुभकामनाएं। कहते हैं कि, “when the going gets tough, the tough gets going.” (जब वक्त कठिन हो, तो मजबूत इरादों वाले ही हैं जो चलते रहते हैं)। विश्वास है कि आने वाले वर्ष में हम युवानिया को और बेहतर होते देखेंगे, और लेखक जुड़ेंगे, और नए पाठक इसे पढ़ेंगे। 

आप सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

  • देवेंद्र, राजस्थान 

युवानिया वैकल्पिक मीडिया का एक ऐसा मंच बना जिससे गाँव, देहात, जंगलों के अंदर रहने वाले तमाम आदिवासी साथी जो अपनी आवाज़, अपने विचार मंच पर नहीं रख पाते थे, उन्हें युवानिया के रूप में एक मंच मिला जिसके माध्यम से वह अपने विचार, अपने आसपास की जानकारियाँ, अपना पर्यावरण, अपने रीति-रिवाज और तमाम तरह की जानकारियों को अभिव्यक्त कर पा रहे हैं। बहुत सारे नए पत्रकार युवानिया के माध्यम से बने हैं। युवानिया की सारी टीम को बहुत शुक्रिया, शुभकामनाएँ और आभार। आपने नए लोगों को एक मंच दिया, उम्मीद है कि यह टीम नए साल में और बेहतर करेगी।

  • गोपाल लोधियाल, उत्तराखंड

संपादक,

युवानिया पत्रिका युवाओं की पहल, तेज, ताज़गी और ऊर्जा की बानगी है। इसमें लिखने वाले ज़्यादातर युवा ही है। पुरानी पीढ़ी के लोग अक्सर युवाओं के भी उद्यम के प्रति सशंकित रहते हैं, परंतु युवानिया की टीम ने इस धारणा को गलत सिद्ध कर दिया है। यह तथ्य हमारे जैसे लोगों के लिए सुकून की बात है।

वैसे बेहतर की गुंजाइश तो हमेशा बनी रहती है और हम चाहेंगे कि युवानिया भी दिन प्रतिदिन निखरती जाए।

मैं नव वर्ष के अवसर पर संपादकीय टीम को और आगे जाने की अपेक्षा के साथ मुबारकबाद देता हूँ।

  • अरविंद अंजुम, झारखंड 

जिस दौर में युवानिया की शुरुआत हुई है, वहाँ लिखना-पढ़ना कोई विशेष काम नहीं समझा जाता है। वही लोग लिखते-पढ़ते हैं, जो लिखाई-पढ़ाई का काम करते हैं। युवानिया एक सार्थक प्रयास है। युवानिया का दायरा बहुत व्यापक है। जो हमारी विविधिता की खुबसूरती को भी दर्शाता है। देश के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग संगठनों के साथ जुड़े युवाओं को उनके आस-पास में क्या चल रहा है, उसको खुद से समझने और लिखने के लिए प्रेरित करता है। यह एक युवाओं द्वारा साझा प्रयास सा भी दिखाई देता है। मुझे युवानिया को पढ़कर खुशी मिलती है। मैंने अलग-अलग संगठनों को युवानिया के माध्यम से जाना है। हमारे कई सारे साथी युवानिया के कई अंकों में लगातार लिखते रहे हैं। जिनके लिए शायद हमारा संगठन कोई लिखने का स्पेस नहीं कर पा रहा था। ऐसे में उनके लिए ये पत्रिका एक मंच बना, जहाँ वह अपने लिए, अपने विचार को अभिव्यक्त कर सकते हैं। इस कार्य में लगे सभी साथियों को, ख़ासकर हम सब के बड़े भाई और शिक्षक- अमित भाई को और उनकी टीम तेजस्विता, सिद्धार्थ और हमारे साथी शुभम, शिवांशु इन सभी साथियों को बहुत-बहुत मुबारकबाद। इस आशा के साथ कि युवानिया दिन दुगनी रात चौगुनी तरक्की करे। हम जैसे लोगों को लिखने में लगाने और नए लोग हैं उनको लिखने के लिए लगातार प्रेरित करते रहेंगे। 

  • अफ़ाक, उत्तर प्रदेश 

ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को अपनी बात रखने का अवसर, अपनी भावनाओं को लिखने का अवसर, समाज की पीड़ा को उजागर करने का प्रयास और उसे छपवाने का अवसर युवानिया पत्रिका देती है। लोगों तक, लिखी हुई बातें पहुँचाने का काम युवानिया पत्रिका, इससे हमें और समाज को प्रेरणा मिलती है। अपनी बात लोगों तक पहुँचाने का अवसर युवानिया देती हैं, हम युवानिया के बहुत आभारी हैं।

  • मनीषा शहारे, महाराष्ट्र 

जो मंच युवानिया ने ग्रामीण युवाओं को दिया है, उससे पढ़ने, लिखने और सोचने की क्षमता तो बढ़ती ही है, इसके साथ-साथ सामाजिक उलझनों और आंतरिक विचारों को गहराई से समझने का भी अवसर मिलता है। देश के अलग-अलग क्षेत्रों की कहानियाँ और अनुभव युवा पाठकों को प्रेरित करते हैं और बेहतर समाज की उम्मीद को कायम रखते हैं।

  • स्वप्निल, मध्य प्रदेश

“YUVANIYA IS UNIQUE.”

Really YUVANIYA has become the unique maker of new writers and poets in the field of people’s movement and social change.It gives space, inspiration and praise to activists and youths to express their thoughts, feelings and experience in the form of articles, stories and poems which encourages others to read and write for this powerful literature of people’s voice. I express my hearty compliment to Yuvaniya and wish it’s continuation and further prosperity.

“युवानिया अद्वितीय है।”

वास्तव में युवानिया जनआंदोलन और सामाजिक परिवर्तन के क्षेत्र में नए लेखकों और कवियों की अद्वितीय निर्माता बन गई हैं। यह कार्यकर्ताओं और युवाओं को अपने विचारों, भावनाओं और अनुभवों को लेखों, कहानियों और कविताओं के रूप में व्यक्त करने के लिए स्थान, प्रेरणा और प्रशंसा देता है और साथ ही लोगों की आवाज़ के इस शक्तिशाली साहित्य के लिए दूसरों को पढ़ने और लिखने के लिए प्रोत्साहित भी करता है। मैं युवानिया का हार्दिक अभिनंदन करता हूँ और कामना करता हूँ कि यह जारी रहे और समृद्ध बने।

  • अमूल्य नायक, ओड़िशा 

Leave a Reply