उत्तराखंड की महिलाएँ और आत्मनिर्भरता की दिशा में उनके प्रयास

तरुण जोशी: महिलाएं उत्तराखंड की आर्थिकी की हमेशा से ही रीढ़ बनी रही हैं। यहाँ की आर्थिकी में किसी भी तरह के परिवर्तन का सबसे

Continue reading

गढ़वाली भाषा और गढ़वाली लोगों की आवाज़ – नरेंद्र सिंह नेगी

सिद्धार्थ:  ये बात साल 1994 की है, मेरी उम्र तब 9 साल की थी और मैं मेरे परिवार के साथ श्रीनगर गढ़वाल में रहता था।

Continue reading