नागपुर, महाराष्ट्र में जुटे 12 राज्यों के 135 साथी, पढ़ा संविधान का पाठ

शशांक शेखर और महिपाल: भारतीय संविधान की प्रस्तावना में व्यक्त संकल्पों में से एक- स्वतंत्रता को मनुष्य का एक ऐसा प्राकृतिक अधिकार बताया गया, जिसका

Continue reading

ସମ୍ବିଧାନ ଗୀତ | संविधान गीत

ଲୋଚନ ବରିହା (लोचन बरिहा): ଶୁନ ଶୁନ ମାଁ ବହେନ ଦଦା ଭାଇ ଶୁନ।ଚଲୁଛେ ଭାରତେ ଆମର ଭାରତୀୟ ସମ୍ବିଧାନ।।ସର୍ବଭୌମ୍ୟ ଗଣରାଜ୍ୟ ଭାଇ ରେ ଲୋକଙ୍କ ସାଶନ।।ଇଟା ସୋର ରଖି ଥା ରେଘରେ ଘରେ

Continue reading

अनायास : गांधीजी के लिए क्या थे ईश्वर के मायने

अरविंद अंजुम: “मैं सत्य का एक विनम्र शोधक हूं। इसी जन्म में आत्मसाक्षात्कार के लिए मोक्ष प्राप्त करने के लिए आतुर हूं। करोड़ों गूंगी जनता

Continue reading

बदलते दौर में युवाओं की आज़ादी के बदलते मायने

किरण डुडवे: युवाओं के लिए उनकी आज़ादी और अधिकारों का बहुत बड़ा महत्व है। आज का युवा किसी भी चीज़ में बंध कर नहीं रहना

Continue reading