जब से बनी रे सरकार

मोहन सिंह:

जब से बनी रे सरकार
लूट रही जनता को – 2
जनता को भाई जनता को – 2

मनमाने कानून बनाए..  
जनता की फिर वाट लगाए
जब से बनी रे सरकार
लूट रही जनता को x 2


खेती और मजदूरी वाले,
इनको है खाने के लाले
मौज करे मंत्री-व्यापारी
मिलकर खाये खूब मलाई
जब से बनी रे सरकार
लूट रही जनता को – 2


जंगल के कानून बनायो  
संसाधन पूँजीपति पे लुटायो
रोज नए कानून बनायो
ज़बरदस्ती कर सबको डरायो
लोग हो रहे परेशान
लूट रही जनता को – 2


गाँव-गाँव स्कूल खुलवायो
शिक्षक पढ़ावे तक ना आयो
फिर भी हो रहे पास..  
लूट रही जनता को – 2
जबसे बनी रे सरकार
लूट रही जनता को – 2


कोरोना एक वाइरस आयो
जनता को खूब सतायो
गुजरात-दिल्ली से पैदल चलवायो
आपदा में अवसर दिलवायो ।  
जबसे बनी रे सरकार
लूट रही जनता को


जीएसटी लगायो, नोटबंदी भी करायो
जनता से कागज मंगवायो
जात-धर्म में हमको लड़वायो
लाइन में खड़े बेहाल
लूट रही जनता को – 2  

जब से बनी रे सरकार
लूट रही जनता को  – 2

Author

  • मोहन, मध्य प्रदेश के दमोह ज़िले से हैं और सामाजिक परिवर्तन शाला से जुड़े हैं। वह बुंदेलखंड मजदूर किसान शक्ति संगठन के साथ जुड़कर स्थानीय मुद्दों और आदिवासी मुद्दों पर काम कर रहे हैं।

Leave a Reply