जब लोग हक़ को भीख और भीख को हक़ समझने लगें

अरविंद अंजुम: ईचागढ़ झारखंड प्रदेश का एक विधानसभा क्षेत्र है। इसी इलाके में सुवर्णरेखा नदी पर चांडिल बांध बना है जिसमें 116 गांव के 15

Continue reading

भारतीय संविधान और प्रतिष्ठा/गरिमा और अवसर की समता

देवेंद्र: भारतीय संविधान और प्रतिष्ठा / गरिमा और अवसर की समता का अर्थ – मानव सभ्यता के इतिहास में समानता का विचार धीरे-धीरे विकसित हुआ

Continue reading

साम्प्रदायिक दंगे और उनका इलाज: भगत सिंह के विचार

भगत सिंह:  (भगत सिंह का यह लेख 1928 में कीर्ति पत्रिका में छपा था) 1919 के जालियावाला बाग हत्याकाण्ड के बाद ब्रिटिश सरकार ने साम्प्रदायिक

Continue reading

अनायास: जैसे हैं, वैसा ही दिखें

अरविंद अंजुम: “आपने अगर कोई भी निश्चय न किया हो तो इतना निश्चय करें कि सच्चा तो रहना ही है। सच्चे न रहे तो जितनी

Continue reading

युवाओं की उड़ान को रोकती शादियाँ

शुभम पांडे:  भारतीय समाज के परिप्रेक्ष्य में बात करें तो हमेशा से ही शादी-विवाह, समाज में यश स्थापित करने और परिवार की समृद्धि जताने और

Continue reading

जनजाति गौरव दिवस – बिरसा मुंडा एवं आदिवासी का अपमान है

शिव: बिरसा मुंडा का जन्म 15 नवम्बर1875 को ग्राम उलीहातू अड़की प्रखंड छोटा नागपुर पठार रांची में हुआ था। इनके पिता का नाम सुगना मुंडा

Continue reading

1 2 3 4 5