2022 का मेडिसिन/फिजियोलॉजी का नोबेल पुरस्कार डॉ. स्वांते पेबो को मिला है।

नवनीत नव: और इन्होंने खोजा क्या है? आज के समय विज्ञान मानता है कि आधुनिक मानव यानि होमो सेपियंस यानि हम लोग इस धरती पर

Continue reading

कैसे खत्म कर दिए गए लैटिन अमेरिका के मूलनिवासी

सिद्धार्थ: 9 अगस्त को भारत सहित दुनिया भर में विश्व आदिवासी दिवस मनाया गया। लेकिन आदिवासी हैं कौन? ट्राईबल, इंडिजीनियस, मूलनिवासी, अनुसूचित जनजाति और वनवासी

Continue reading

उत्तराखंड के तिलाड़ी के शहीदों को श्रद्धांजलि 

मुनीष कुमार:  30 मई, 1930 भारत के इतिहास का अविस्मरणीय दिन है। इस दिन उत्तराखंड के बड़कोट में स्थित तिलाड़ी के मैदान में अपने अधिकारों

Continue reading

अनिश्चितता के घेरे में मज़दूर वर्ग: एक संक्षिप्त इतिहास और कुछ सुझाव

राहुल:  आधुनिक औद्योगिक पूॅंजीवाद को अपनी स्थापना के समय एक बड़ी समस्या का सामना करना पड़ा – काराखानों में काम करने के लिए श्रमिकों की

Continue reading

मज़दूरों के संघर्षों की विरासत 1 मई, अन्तर्राष्ट्रीय मज़दूर दिवस

राजिम केतवास:  मई दिवस की विरासत संघर्षों की विरासत है, लेकिन आज इस विरासत पर धूल-मिट्टी डाली जा रही है और इस दिन को कुछ

Continue reading

आज़ाद भारत के इतिहास में भुला दिए गए खरसावां गोलीकांड पर चिंतन

सन्नी सिंकू: लगभग देश स्वतंत्र होने के पाँच माह बाद 1 जनवरी 1948 को खरसावां में गोलीकांड हुआ था। आज़ाद भारत का पहला सबसे बड़ा

Continue reading

1 2 3