लड़कियों की शादी की उम्र 18 से 21 बढ़ाना सही है या ग़लत ?

स्वप्निल और सोमित:

इस शॉर्ट फिल्म में कुछ युवा मध्य प्रदेश के भिंड ज़िले में गांव में लोगों से सरकार द्वारा लाए जाने वाले कानून (जिसमें लड़कियों की शादी की उम्र 18 से 21 करने के प्रावधान है) के बारे में चर्चा करते हैं। इस संवाद में समाज में महिलाओं की विकित स्तिथि, समाज में बाल विवाह जैसी कुरीतियाँ, पितृसत्ता के ढांचे में कैद लड़कियों की उम्मीदें और क्षमता तथा समाज में लड़कियों के प्रति सोच उजागर करती है।

Author

  • श्रुति से जुड़े मध्य प्रदेश के संगठन जेनिथ सोसाइटी फॉर सोशियो लीगल एम्पावरमेंट को बनाने में प्रमुख भूमिका निभाने वाले स्वप्निल, संगठन के कार्यकर्ता हैं। स्वप्निल पेशे से वकील हैं जो क्षेत्र के युवाओं के साथ मिलकर अलग-अलग मुद्दों पर काम की पहल कर रहे हैं। उन्हें खेलकूद करना और फोटोग्राफी करना पसंद करते हैं।

Leave a Reply