मध्य प्रदेश से खेती, किसान के हालात और कृषि अधिनियमों पर टिप्पणियाँ

सुरेश डुडवे (बड़वानी): मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले की वरला तहसील के देवली गांव के किसान फसल के सही दाम नहीं मिल पाने से परेशान हैं।

Continue reading

कृषि अधिनियम: अब खेती भी जाएगी कारोबारियों के हाथों में

एलीन लकड़ा वर्तमान में जिस रफ्तार से सरकारी संस्थान, संसाधन और साधन/सेवाओं का निजीकरण और कोर्पोरेटीकरण हो रहा है, ऐसे लगता है देश के सभी

Continue reading

खेती, किसान और उसकी समस्याएँ

सुरेश डुडवे: मध्यप्रदेश के बड़वानी, झाबुआ, धार, अलीराजपुर, खरगोन तथा खंडवा जिलों में भील, भिलाला एवं बारेला समुदाय के आदिवासी समाज रहते हैं। प्रकृति के

Continue reading

आमु वासी ने भील

(बारेली लोकगीत) निवी गोफन पेवो पागडो रे, आमु वासी ने भीलड़ा,काव्यो बुले लेदा रे ,आमु वासी ने भील।खेड़ी – खेडी ने रसे वाव्या रे आमु

Continue reading

आम दो आदिवासी संथाल होपोन

(संथाली लोकगीत) चास कमी गेताम सोरोस कमीबनीज बेपार बाम बाड़ायचकरी कमी बाम नायओलोक अकील बांगतेआम दो आदिवासी संथाल होपोन गडा आड़े फेड रेताम जमी जयगाचा:

Continue reading

खेतवा के अरी-अरी, घुमे छै किसान हो

(ठेठी लोकगीत) अखिलेश: खेतवा के अरी-अरीघुमे छै किसान होsssपूरबी बयरिया मे काटे पटुआ धान हो…x 2खेतवा के अरी-अरी…x 2 आगू-आगू बैल चलेपीछु से किसनवा होsss खेतवा

Continue reading

1 2 3